spot_img
Thursday, February 2, 2023
spot_img
Homeखेती-किसानीएक्शन में आए कृषि विभाग के अधिकारी ,ले रहे खाद ,बीज व...

एक्शन में आए कृषि विभाग के अधिकारी ,ले रहे खाद ,बीज व कीटनाशक का सैम्पल, जाँच में गड़बड़ी पर किया नोटिस जारी

अपर संचालक कृषि (उर्वरक) एस.सी. पदम ने बताया कि, खरीफ सीजन 2022 में बीज के 5000, उर्वरक के 3000 तथा पौध संरक्षण औषधि के 500 नमूने लिए जाने का लक्ष्य है. विभागीय अधिकारियों की टीम द्वारा अब तक बीज के 2907 नमूने लिए गए हैं, जिन्हें प्रयोगशाला भेजकर परीक्षण कराया गया है. परीक्षण में 2798 नमूने मानक स्तर के तथा 99 अमानक स्तर के पाए गए हैं. इसी तरह रासायनिक उर्वरकों की गुणवत्ता की जांच-पड़ताल के लिए कृषि विभाग के उर्वरक निरीक्षकों द्वारा 1946 नमूने विभिन्न संस्थानों से लिए गए हैं.

यह भी पढ़िए – 7वा वेतनमान : साल की सबसे बड़ी खुशखबरी मिल सकती है आज ,आ सकते हैं 1.5 लाख रुपये खाते में

एक्शन में आए कृषि विभाग के अधिकारी

वहीं 146 नमूने अभी जांच की प्रक्रिया में हैं, जबकि 28 नमूने कतिपय कारणों से निरस्त कर दिए गए हैं. अमानक बीज एवं खाद के लाट के विक्रय को विभाग द्वारा प्रतिबंधित किए जाने के साथ संबंधित संस्थाओं को कारण बताओं नोटिस जारी किया गया है. कृषि विभाग की टीम कीटनाशक औषधियों के गुणवत्ता की भी लगातार जांच कर रही है. जांच पड़ताल टीम ने अब तक कुल 23 सैम्पल विभिन्न फर्मों से लिए हैं, जिसमें से 17 नमूनों का विश्लेषण करने पर सभी सैम्पल मानक स्तर के पाए गए हैं. 4 सैंपल निरस्त हुए हैं और 2 सैंपल की जांच जारी है.

image 200
>

यह भी पढ़िए – सुप्रीम कोर्ट की 5 सदस्यीय संविधान पीठ नोटबंदी पर करेगी सुनवाई ,12 अक्टूबर तारीख की तय

जाँच में गड़बड़ी पर किया नोटिस जारी

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देशानुसार कृषि विभाग द्वारा राज्य में रासायनिक उर्वरकों, बीज और कीटनाशक औषधि की गुणवत्ता पर विशेष निगरानी रखी जा रही है.जांच उपरांत 1663 नमूने मानक स्तर के तथा 109 नमूने अमानक स्तर के मिले हैं कृषि विभाग के जिला स्तरीय अधिकारी अपने-अपने इलाकों में लगातार दबिश देकर बीज, खाद और कीटनाशक औषधियों के सैम्पल ले रहे हैं, जिसकी जांच गुणवत्ता नियंत्रण प्रयोगशाला में की जा रही है. बता दें कि, खरीफ सीजन 2022 में अब तक राज्य में बीज के 99 नमूने तथा रासायनिक उर्वरक के 109 नमूने अमानक पाए गए हैं, जिनके लाट के विक्रय पर तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगाने के साथ ही संबंधित फर्मों को कृषि विभाग ने नोटिस जारी कर जवाब-तलब किया गया है.

>
RELATED ARTICLES

Most Popular