spot_img
Monday, February 6, 2023
spot_img
Homeट्रेंडिंग न्यूज़अगर आपको भी करना है सपनो का महल खड़ा ,तो आपके लिए...

अगर आपको भी करना है सपनो का महल खड़ा ,तो आपके लिए जरुरी खबर ,सस्ते है सरिया-सीमेंट के दाम ,पढ़िए पूरी खबर

जिसका सीधा असर सीमेंट (Cement) और सरिया (Sariya) जैसी सामग्रियों के भाव पर हो रहा है. पिछले 02 सप्ताह के दौरान सरिये के भाव कई शहरों में बढ़े हैं. हालांकि अभी भी यह 2-3 महीने पहले की तुलना में ठीक-ठाक सस्ता मिल रहा है. अगर आपको भी घर बनवाना है तो अब देरी न करें, वर्ना सरिया-सीमेंट के महंगे होने से आपकी लागत बढ़ सकती है.  जैसे-जैसे मानसून वापस लौटने लगा है, देश के विभिन्न हिस्सों में बारिश में कमी आने लगी है. इसके साथ ही निर्माण गतिविधियों (Construction Activities) में तेजी आने लगी है.इससे पहले मानसून के चलते उत्पन्न हुए बारिश और बाढ़ जैसे हालात ने निर्माण गतिविधियों को ठप कर दिया था. हालांकि अब इस सेक्टर में गतिविधियों में सुधार आने लगा है,अगर आप भी अपना सपनों का महल खड़ा करना चाहते है तो इस खबर को पढ़ना आपके लिए फायदे का सौदा रहेगा। मार्च-अप्रैल के दौरान जो सरिये के भाव उच्च स्तर पर पहुंच गए थे.

यह भी पढ़िए – नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं को पैसा कमाने का खास मौका, इस पेड़ को घर पर लगाने से होंगी करोड़ो की आमदनी

निर्माण गतिविधियों (Construction Activities) में आने लगी है तेजी

उसके बाद सरिये के भाव में तेजी से गिरावट आई थी, लेकिन अभी फिर से इनकी कीमतें बढ़ने लगी हैं. बीते दो सप्ताह के दौरान कई शहरों में सरिया 1000 रुपये प्रति टन तक महंगा हुआ है. हालांकि यह अभी भी जुलाई की तुलना में 6000 रुपये प्रति टन तक सस्ता मिल रहा है.  आपको बता दें कि मार्च-अप्रैल के दौरान सरिये का भाव रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गया था. इसके बाद सरकार ने स्टील पर  एक्सपोर्ट ड्यूटी (Export Duty On Steel) बढ़ाने का फैसला लिया. इसकी वजह से घरेलू बाजार में स्टील के दाम तेजी से गिरे. सरिये के दाम में आई कमी की मुख्य वजह भी यही है.

download

यह भी पढ़िए – भारत में पेश कर सकती है हुंडई नई सात सीटर एमपीवी, होगा अर्टिगा कैरेंस से मुकाबला

भारी बारिश के चलते निर्माण गतिविधियों में कमी आने का असर

>

दूसरी ओर मानसून के कारण देश के कई हिस्सों में हो रही भारी बारिश के चलते निर्माण गतिविधियों में कमी आने का असर डिमांड पर हुआ. खुदरा बाजार के हिसाब से देखें तो अप्रैल में एक समय सरिये का भाव 82,000 रुपये प्रति टन पहुंच गया  था, जो अभी कम होकर 50 से 55 हजार रुपये प्रति टन रह गया है.इस्पात मंत्रालय के आंकड़ों को देखें तो TMT सरिया का खुदरा भाव अप्रैल की शुरुआत में 75,000 रुपये प्रति टन के आसपास था,  जो 15 जून को गिरकर करीब 65 हजार प्रति टन पर आ गया था.अब उन दामों में भारी गिरावट देखी जा रही है। सरिया-सीमेंट और ईंट के दाम जानने के लिए खबर को पूरा पढ़े। 

>
RELATED ARTICLES

Most Popular