भव्य श्रीराम मंदिर में लगने वाला घंटा, अयोध्या धाम आ चूका, गुंजेगी इसकी आवाज पूरी अयोध्या नगरी में

By Pragya

Published on:

भव्य श्रीराम मंदिर में लगने वाला घंटा, अयोध्या धाम आ चूका, गुंजेगी इसकी आवाज पूरी अयोध्या नगरी में

राम मंदिर का उद्घाटन 22 जनवरी को होने जा रहा है। ऐसे में राम मंदिर के अंदर लगने वाला घंटा जलेसर से चलकर अयोध्या आ चूका है। ये घंटा 2100 किलो का है. इस घंटे को बनाने के लिए करीब 2 साल का समय ये घंटा आगरा लोकसभा क्षेत्र के जलेसर विधानसभा में बनाया गया है। 2100 किलो के घंटे को राम मंदिर के अंदर स्थापित किया जा रहा है। जिसकी गूंज पूरे अयोध्या में सुनाई देगी। पूरे परिसर में लगने वाला यह सबसे बड़ा घंटा है। 22 जनवरी को अयोध्या में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा के मद्देनजर भारत नेपाल पर सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट मोड़ पर रहेगी। बॉर्डर पर ड्रोन कैमरे से निगरानी भी राखी जाएगी।

राम मंदिर में लगने वाला घंटा

image 791

यह भी पढ़े –दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर को भी दिया गया न्योता, 22 जनवरी को रामलला नए बन रहे मंदिर के गर्भगृह में होंगे विराजमान

एटा के जलेसर में निर्मित 2100 किलो वजनी घंटा मंगलवार को अयोध्या पहुंच चूका है। इस घंटे को श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को समर्पित कर दिया है। यह घंटा नवनिर्मित राममंदिर में लगाया जा रहा है। सावित्री ट्रेडर्स के मालिक आदित्य मित्तल व प्रशांत मित्तल की ओर से बनवाए गए घंटे की लागत 25 लाख रूपए में इस घंटे को बनाया गया है। विशेष रथ पर घंटा मंगलवार की देर शाम अयोध्या पहुंचा. घंटा अष्टधातु का है. 2100 किलो का घंटा बनाने में 2 साल सालों का वक्त लगा है। इस काम में 70 लोगों ने अपना समय दिया है। रास्ते में रथयात्रा पर पुष्पवर्षा हुई।

अयोध्या में कुल 108 संत को बुलाया गया

अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम से पहले अलग-अलग धार्मिक अनुष्ठान के लिए देशभर से कुल 108 संत महंत को अयोध्या बुलाया गया है। जो धार्मिक अनुष्ठान में अपना योगदान देंगे। कोई वृंदावन से आया है तो कोई नासिक, काशी, प्रयागराज , जम्मू कश्मीर से तो कोई नेपाल से इन्हे बुलाया गया है।

ड्रोन कैमरे से की जा रही निगरानी

image 789

यह भी पढ़े –सूट के साथ ज्वेलरी वियर करना चाहती है तो, देखे यह ज्वेलरी डिजाइन

अयोध्या में 22 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा इस कार्यक्रम को शुरू किया जायेगा। रामलला के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के दृष्टिगत अयोध्या के साथ-साथ महराजगंज जनपद की भारत नेपाल के अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट रहेगी। हर आने-जाने वाले लोगों की गहनता से जांच भी की जाएगी। और इसके साथ ही पुलिस और एसएसबी जवानों द्वारा ड्रोन कैमरों से निगरानी रखेंगे। एसएसबी और पुलिस के जवानों द्वारा सीमा पर पेट्रोलिंग भी की जा रही है। इसके साथ ही हर आने-जाने वाले लोगों के पहचान पत्रों की पहचान होने के बाद ही उन्हें नेपाल से भारत या भारत से नेपाल आने – जाने दिया जायेगा। महराजगंज का 84 किलोमीटर का सीमावर्ती क्षेत्र भारत नेपाल के कई नाकों और पगडंडियों से जुड़ा हुआ है। जहां से घुसपैठ करने वाले लोगों एवं अवैध गतिविधियों पर सुरक्षा एजेंसियां पूरी अलर्ट है। इस तरह यह पर निगरानी राखी जाएगी।

Pragya