spot_img
Monday, February 6, 2023
spot_img
Homeप्रदेश की खबरेगृहमंत्री अमित शाह के जम्मू-कश्मीर दौरे में बड़ा फैसला, पहाड़ी गुर्जर और...

गृहमंत्री अमित शाह के जम्मू-कश्मीर दौरे में बड़ा फैसला, पहाड़ी गुर्जर और बकरवाल समुदायों से आरक्षण का वादा

Home Minister Amit Shah: गृहमंत्री अमित शाह के जम्मू-कश्मीर दौरे का आज (4 अक्टूबर) दूसरा दिन है. उन्होंने राजौरी में आज एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय का शिलान्यास किया. इस दौरान उन्होंने यहां विशाल रैली को भी संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने बड़ा एलान करते हुए जम्मू-कश्मीर में गुर्जर, बकरवाल और पहाड़ी समुदायों से आरक्षण का वादा किया.

Home Minister Amit Shah

अमित शाह ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा, 70 सालों तक जम्मू-कश्मीर पर तीन परिवारों ने राज किया, लोकतंत्र सिर्फ अपने परिवारों में बना दिया था. आप सभी को कभी भी ग्राम पंचायत, तहसील पंचायत, जिला पंचायत का अधिकार मिला था क्या? तीन परिवारों ने लोकतंत्र का, जम्हूरियत का मतलब सिर्फ पीढ़ियों तक शाासन करना निकाल दिया था.

मोदी ने सबसे पहले जम्मू-कश्मीर में पंचायत के चुनाव कराए

अमित शाह ने कहा, “देश में सरकार बदली, 2014 से नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बनें, तब मोदी ने सबसे पहले जम्मू-कश्मीर में पंचायत के चुनाव कराए. पहले जो सिर्फ तीन परिवार के पास था, आज 30 हजार के पास जम्मू-कश्मीर का शासन आया है. 5 अगस्त 2019 को एक महत्वपूर्ण फैसला दिया, जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35A को उखाड़ कर फेक दिया. अगर अनुच्छेद 370 और 35A नहीं हटता तो जम्मू-कश्मीर में ट्राइबल रिजर्वेशन नहीं मिलता.”

>

जनसभा में क्या बोले अमित शाह-

  • जम्मू-कश्मीर में तीन परिवारों ने भ्रष्टाचार करने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी।
  • 2014 में सरकार बनाने का बाद पीएम मोदी ने सबसे पहले जम्मू-कश्मीर में पंचायत के चुनाव कराए।
  • पहले सिर्फ तीन परिवार के पास था, आज 30 हजार के पास जम्मू-कश्मीर का शासन आया है।
  • आज पीएम मोदी पूरे जम्मू-कश्मीर के 27 लाख परिवारों को पांच लाख तक का स्वास्थ्य का पूरा खर्च उठा रहे हैं।
  • प्रधानमंत्री ने 5 अगस्त 2019 को एक महत्वपूर्ण फैसला दिया, जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35A को उखाड़ कर फेक दिया।
  • अगर अनुच्छेद 370 और 35A नहीं हटता तो जम्मू-कश्मीर में ट्राइबल रिजर्वेशन नहीं मिलता।
  • धारा 370 हटाने से पिछड़े, दलित, आदिवासी, पहाड़ियों को उनका अधिकार मिला।
  • सफाई कर्मचारियों के पास कोई अधिकार नहीं था। अब उन्हें उनका हक मिला है।
  • यहां पर एससी/एसटी एट्रोसिटी एक्ट नहीं था, जो अब जाकर मिला है।
  • महिलाओं को भी उनका अधिकार मिला है
  • पहले जो परिसीमन हुआ तो सिर्फ तीन परिवारों के फायदे के लिए, लेकिन इस बार आम जनता के लिए परिसीमन हुआ
  • सालों से लखनपूर में टोल टैक्स का बूथ लगा था, जिसे अब हटा दिया गया है। इसे समाप्त करके महंगाई को काबू में करने का काम किया है।
  • पहले आए दिन पथराव की घटना होती थी। अब युवाओं के हाथ से पत्थर लेकर लैपटॉप दिए गए हैं।
  • वो कहते थे धारा 370 हटाएंगे तो खून की नदियां बहेंगे, लेकिन आज की जनसभा उनको करारा जवाब है।

56 हजार करोड़ रुपये का औद्योगिक निवेश

शाह ने आगे कहा कि आज पीएम मोदी जम्मू-कश्मीर के 27 लाख परिवारों का पांच लाख तक का स्वास्थ्य का पूरा खर्च उठा रहे हैं, 70 साल में इन तीन परिवारों ने दिया क्या? पहले आए दिन जम्मू-कश्मीर से पथराव के समाचार आते थे. आज पथराव की खबरें सामने नहीं आती हैं. पीएम ने यहां के युवाओं को सशक्त करने का काम किया है. आजादी से लेकर 2019 तक पूरे जम्मू-कश्मीर में 15 हजार करोड़ रुपये का औद्योगिक निवेश आया था. 2019 से अब तक इन तीन वर्ष में 56 हजार करोड़ रुपये का औद्योगिक निवेश पूरे जम्मू-कश्मीर में आया है

>
RELATED ARTICLES

Most Popular