ICC ने बदला रिव्यु का नियम, विकेटकीपर की यह चालाकी पड़ती थी बल्लेबाजों पर भारी

By Sumit

Published on:

ICC ने बदला रिव्यु का नियम, विकेटकीपर की यह चालाकी पड़ती थी बल्लेबाजों पर भारी

ICC Review New Rule: ICC ने बदला रिव्यु का नियम, विकेटकीपर की यह चालाकी पड़ती थी बल्लेबाजों पर भारी, आईसीसी ने क्रिकेट के एक विवादित नियम को बदल दिया है। इसका विकेटकीपर पिछले कुछ समय से काफी फायदा उठा रहे थे। इस नियम का क्रिकेट के कई जानकार लगातार विरोध कर रहे थे। आईसीसी के इस बदलाव से अब बल्लेबाज चैन की सांस ले सकते हैं।

Also Read – IPL 2024 Delhi Capitals Players list: दिल्ली कैपिटल्स के खेमे में शामिल 19 साल का धाकड़ खिलाड़ी, देखें दिल्ली कैपिटल्स की पुरी टीम

रिव्यु में होगा यह बदलाव

नए साल में क्रिकेट के नियमों में कुछ बदलाव किए गए हैं, जिनमें से कुछ की आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। खासकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने एक बड़ी समस्या का समाधान किया है, जिसका फायदा खिलाड़ी कुछ समय से उठाते आ रहे थे। ये बदलाव स्टंपिंग की वीडियो रिव्यू से जुड़ा है। अब ये रिव्यू सिर्फ साइड-ऑन कैमरों की रिप्ले देखकर लिए जाएंगे, यानी अब अंपायर स्टंपिंग चेक करने के दौरान बल्ले का किनारा चेक नहीं करेंगे।

जानबूझकर विकेटकीपर उठाते है फायदा

कुछ समय से विकेटकीपर स्पिन गेंदबाजों के खिलाफ जब गेंद बल्ले को छकाकर जाती थी तो स्टंपिंग कर देते थे। अंपायर को स्टंपिंग का रिव्यू लेना पड़ता था, इससे डीआरएस लिए बिना ही बल्ले का किनारा चेक हो जाता था। उदाहरण के लिए, पिछले साल भारत के खिलाफ घरेलू सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के विकेटकीपर एलेक्स कैरी कई बार जानबूझ कर बल्लेबाज को स्टंप कर रहे थे। जब अंपायर स्टंपिंग के लिए तीसरे अंपायर के इशारा करते थे तो बल्ले का किनारा भी चेक होता था। इससे रिव्यू भी हो जाता था, लेकिन इसके लिए टीम का अपना डीआरएस भी खर्च नहीं होता था। अब ऐसा नहीं होगा।

Also Read – IPL 2024 Punjab Kings Players list: पंजाब किंग्स ने ख़रीदा तेज तर्राट विदेशी आल-राउंडर, इस टीम के साथ उतरेगी पंजाब किंग्स

यह होगा नया नियम

नए नियम के अनुसार, ‘स्टंपिंग रिव्यू सिर्फ स्टंपिंग देखने के लिए होगा, ताकि अन्य तरीकों से आउट होने की रिव्यू के लिए बिना अपना रिव्यू खर्च किए टीमें फायदा न उठा सकें।’ ये बदलाव 12 दिसंबर, 2023 से लागू हो गए हैं। यह दावा क्रिकबज की रिपोर्ट में किया गया है।

आईसीसी ने किये यह अन्य बदलाव

एक और बदलाव कनकशन रिप्लेसमेंट को लेकर है। इस नए नियम के अनुसार- यदि बाहर गए खिलाड़ी पर गेंदबाजी करने से सस्पेंड किया गया है तो रिप्लेसमेंट में आए खिलाड़ी को भी गेंदबाजी करने की अनुमति नहीं होगी।’ इसके साथ ही तीसरे अंपायर के पास फ्रंट फुट के अलावा सभी प्रकार की फुट फॉल्ट नो बॉल की स्वचालित रूप से जांच करने का व्यापक दायरा होगा।

Sumit