spot_img
Monday, January 30, 2023
spot_img
Homeबिज़नेसटेक न्यूज़Bank Fraud Calls: जान ले कैसे बचना है बैंक फ्रॉड कॉल्स से,...

Bank Fraud Calls: जान ले कैसे बचना है बैंक फ्रॉड कॉल्स से, जिससे मिसकॉल से ही आपका बैंक खाता खाली न हो

Bank Fraud Calls: जान ले कैसे बचना है बैंक फ्रॉड कॉल्स से, जिससे मिसकॉल से ही आपका बैंक खाता खाली न हो, इस शख्स ने न तो कोई ओटीपी शेयर किया, न किसी लिंक पर क्लिक किया और न किसी से कोई बैंक डिटेल शेयर किए। इनके फोन पर सिर्फ कई मिसकॉल आईं और उसके बाद बैंक से पैसे निकल गए। दिल्ली में एक बिजनेसमैन से 50 लाख की ठगी का मामला सामने आया है। इस शख्स ने न तो कोई ओटीपी शेयर किया, न किसी लिंक पर क्लिक किया और न किसी से कोई बैंक डिटेल शेयर किए। इनके फोन पर सिर्फ कई मिसकॉल आईं और उसके बाद बैंक से पैसे निकल गए। ये है ठगी का एक और तरीका जिसे सिम स्वैप फ्रॉड कहते हैं। सिम स्वैप फ्रॉड तब होता है जब स्कैमर्स टू-फैक्टर ऑथेंटिथें केशन और वेरिफिकेशन में कमजोरी का फायदा उठाते हैं और आपका खाता कुछ सेकड़ो में कर सकते है खाली

ये भी पढ़िए: Alert For Online Payment: Online पेमेंट करने वाले हो जाये सतर्क, भुगतान करने से पहले जान ले यह काम की बात

जाने कब होते है बैंक फ्रॉड कॉल्स (Know when bank fraud calls happen)

आपके द्वारा के साथ बैंक फ्रॉड कॉल्स तब होती है जब स्कैमर आपके मोबाइल फोन के कैरियर से संपर्क करते हैं और कहते हैं कि उनका सिमकार्ड खराब हो गया है या खो गया है। ये धोखेबाज उसी नम्बर का एक सिमकार्ड निकलवा कर उसे एक्टिव करा लेते हैं। एक बार ऐसा होने के बाद स्कैमर्स का आपके फोन नंबर पर नियंत्रण हो जाता है। इस नंबर पर कॉल या टेक्स्ट करने वाला कोई भी व्यक्ति आपके स्मार्टफोन की बजाय स्कैमर के डिवाइस से संपर्क में आ जाता है। इसे सिम स्वैप फ्रॉड के रूप में जाना जाता है, और इसका मतलब है कि स्कैमर संभावित रूप से आपके बैंक की वेबसाइट पर लॉग-इन करते समय आपका यूजर नाम और पासवर्ड दर्ज कर सकते हैं।

  • इसके बाद बैंक आपके स्मार्टफोन नंबर पर टेक्स्ट – टू-फैक्टर ऑथेंटिथें केशन – द्वारा एक कोड भेजेगा, एक कोड जिसे आपको अपने ऑनलाइन खा ते तक पहुंचने के लिए दर्ज करना होगा।
  • समस्या ये है कि सिम स्वैप के बाद, वह नंबर अब स्कैमर्स के पास मौजूद स्मार्टफोन या अन्य डिवाइस में चला जाता है। फिर वे आपके बैंक खाते में प्रवेश करने के लिए उस कोड का उपयोग कर सकते हैं।
  • यह आपके टेलीफोन नंबर को अपराधी के डिवाइस में पोर्ट कर देता है, जिसमें स्कैमर का अपना सिम कार्ड होता है। एक बार जब आपका कैरियर इस अनुरोध को पूरा कर लेता है, तो आपके पास जाने वाले सभी फोन कॉल और टेक्स्ट इसके बजाय स्कैमर के डिवाइस पर चले जाएंगे।

जाने कैसे बैंक फ्रॉड कॉल्स वाले आपका डाटा एकत्र करते है (Know how bank fraud callers collect your data)

बैंक फ्रॉड कॉल्स के माध्यम से सबसे पहले आपकी निजी जानकारी डाटा एकत्र करते है जिसके माध्यम से धोखेबाज़ आपके मोबाइल सेवा प्रोवाइडर द्वारा पूछे जाने वाले सुरक्षा प्रश्नों का उत्तर देने के लिए आपकी निजी जानकारी पहले से ही जुटा कर रख लेते हैं। इसके लिए वह फ़िशिंग ईमेल, मालवेयर या सोशल मीडिया रिसर्च के माध्यम से आपका डेटा एकत्र करते हैं। ठग आपका आधार नम्बर, जन्म तिथि, फोन नम्बर, हासिल कर लेते हैं। लोग अपनी ये जानकारी जाने अनजाने में इतनी जगह बांटते हैं कि डेटा लीक होना कोई अचरज की बात नहीं है |

बैंक फ्रॉड कॉल्स धोखेबाज की द्वारा प्रेरित (bank fraud calls prompted by fraudsters)

>

धोखेबाज आप अपने ऐसे काम के लिए बोले तो अभी न करे बरना खाता हो जायेगा खाली कई स्कैमर आपको ऐसे ईमेल लिंक पर क्लिक करने के लिए प्रेरित करते हैं जो आपके कंप्यूटर को मैलवेयर से भर देते हैं। इससे होता ये है कि आप जो कुछ टाइप करेंगे वह सब कीस्ट्रोक्स को रिकॉर्ड करता जाता है। फिर यह जानकारी ठगों को मिल जाती है। इसके अलावा, जालसाज डार्क वेब पर आपकी व्यक्तिगत और वित्तीय जानकारी भी खरीद सकते हैं। जिनकी उन्हें अपने घोटाले को सफलतापूर्वक करने की आवश्यकता होती है।

जाने कैसे पहचान सकते हो आप धोखेबाज बैंक फ्रॉड कॉल्स को (Know how you can identify fraudulent bank fraud calls)

बैंक फ्रॉड कॉल्स धोखेबाज के द्वारा आपको ऐसे ऐसी मीठे बोल बोले जाते है जिसको सुनकर यूजर उनकी बातो में आ जाते है इस से बचने के लिए जान की आप को किस संकेतो से बचना है जान ले कैसे संकेत आते है, पहला संकेत है कि आपके फोन कॉल और टेक्स्ट संदेश नहीं चल रहे हैं। इसका मतलब हो सकता है कि जालसाजों ने आपके सिम कार्ड को निष्क्रिय कर दिया है और आपके फोन नंबर का उपयोग कर रहे हैं। दूसरा संकेत ये है कि अचानक आप अपने बैंक और क्रेडिट कार्ड खातों में लॉगिन न कर पाएं। संभव है कि स्कैमर ने आपके पासवर्ड और यूजर नाम बदल दिए हों। ऐसे में अपने बैंक को तुरंत सूचित करने के लिए उनसे संपर्क करें।

जाने बैंक फ्रॉड कॉल्स से बचने के तरीके (Know how to avoid bank fraud calls)

ऑनलाइन व्यवहार (online behavior)

फ़िशिंग ईमेल और अन्य तरीकों से सावधान रहें, हमलावर आपके व्यक्तिगत डेटा तक पहुँचने का प्रयास कर सकते हैं। जिन लो गों को आप नहीं जानते उनके ईमेल संदेशों के लिंक पर क्लिक न करें। और याद रखें, आपका बैंक, केबल प्रदाता, क्रेडिट कार्ड कंपनी, या अन्य सेवा प्रदाता ईमेल संदेश के
माध्यम से आपकी व्यक्तिगत या वित्तीय जानकारी नहीं मांगते हैं।

एकाउंट सुरक्षा (account security)

अपने सेलफोन के एकाउंट सुरक्षा को एक यूनीक और मजबूत पासवर्ड और मजबूत सुरक्षा प्रश्नों और उत्तरों के साथ बढ़ाएं जो केवल आप जानते हैं।

ये भी पढ़िए: Whatsapp Tips and Tricks: इस ट्रिक से आप Whatsapp पर डिलीट…

पिन कोड (Pin Code)

यदि आपका सर्विस प्रोवाइडर आपको एक अलग पासकोड या पिन सेट करने की अनुमति देता है, तो ऐसा करने पर विचार करें। यह सुरक्षा की एक अतिरिक्त परत प्रदान कर सकता है।

प्रमाणीकरण ऐप आप गूगल प्रमाणक जैसे प्रमाणीकरण ऐप का उपयोग कर सकते हैं, जो आपको दो लेयर प्रमाणीकरण देता है। ये आपके फ़ोन नंबर के बजाय आपके भौतिक उपकरण से जुड़ा होता है।

बैंक और मोबाइल वाहक अलर्ट अपने बैंक और मोबाइल सर्विस प्रोवाइडर के नोटिफिकेशन तथा अलर्ट ऑन रखें।

>
RELATED ARTICLES

Most Popular