किसानो की ताबड़तोड़ कमाई का जरिया बनी काले टमाटर की खेती, कम लागत में मुनाफा भी डबल, जाने पूरी जानकारी

By Jitendra

Published on:

किसानो की ताबड़तोड़ कमाई का जरिया बनी काले टमाटर की खेती, कम लागत में मुनाफा भी डबल, जाने पूरी जानकारी। आज के समय देश में पारंपरिक खेती के साथ-साथ उन्नत खेती का दायरा भी बढ़ रहा है। आपको बता दें कि आधुनिकता के इस युग में जहां सब कुछ आधुनिक हो गया है और खेती भी लगभग आधुनिक हो गई है,ऐसे में किसान भाई पारंपरिक खेती की बजाय लाभकारी खेती पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं। आपको बता दें कि काले टमाटर की खेती एक लाभदायक व्यावसायिक विकल्प है जो अपनी अनूठी सुंदरता और विशेष रसदार स्वाद के लिए प्रसिद्ध है। इसके अलावा भी इसके कई स्वास्थ्य लाभ हैं आइये जानते है काले टमाटर की खेती के बारे में.

यह भी पढ़िए:-फटाफट ट्रक में लकड़ियाँ लोड करने मजदूरों ने भिड़ाया जुगाड़, देखिए अद्भुद जुगाड़ का वाइरल वीडियो

इन राज्यों में अधिक की जाती है काले टमाटर की खेती

image 236

आपको बता दे भारत में काले टमाटर की खेती उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार, हरियाणा, महाराष्ट्र और गुजरात राज्यों में की जाती है। काले टमाटर की खेती बहुत आसानी से की जा सकती है काळे टमाटर सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होते है। टमाटर की खेती के लिए सबसे पहले नर्सरी में टमाटर के पौधे तैयार किए जाते हैं, जिसके लिए नर्सरी की मिट्टी को भंगुर बनाना फायदेमंद होता है।

यह भी पढ़िए:-5G की दुनियाँ में बवाल मचा देंगा Redmi का ताबड़तोड़ 5G स्मार्टफोन, लेटेस्ट कैमरे क्वालिटी के साथ कीमत मात्र इतनी

बीमारियों से लड़ने में सहायक होते है काले टमाटर

image 235

बता दे काळे टमाटर में कई प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते है यह टमाटर कई बीमारियों से लड़ने में भी कारगर है। यह डायबिटीज के मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद है। इसका सेवन मधुमेह और हृदय रोगियों द्वारा भी किया जा सकता है। काले टमाटर वजन कम करने और शर्करा के स्तर को कम करने के लिए उपयोगी हैं। आज के समय में इस फल की मांग बढ़ रही है क्योंकि यह कई तरह की बीमारियों को दूर करने में मददगार है।

काले टमाटर की खेती के लिए उचित समय और तापमान

आपको बता दें कि काले टमाटर की खेती सर्दियों के जनवरी के महीने में की जाती है और किसानों को मार्च-अप्रैल के महीने में काले टमाटर मिलने लगते हैं। इसकी खेती 10 से 30 डिग्री सेंटीग्रेड तापमान पर की जाती है। पौधे 21 से 24 डिग्री सेंटीग्रेड तापमान में अच्छी तरह से बढ़ते हैं। काले टमाटर की खेती के लिए सूक्ष्मजीवों और सूक्ष्मजीवों से भरपूर दोमट मिट्टी उपयुक्त है इसे दोमट मिट्टी में भी उगाया जा सकता है।

काले टमाटर की खेती का उन्नत तरीका

image 234

काले टमाटर की खेती के लिए सही मिट्टी और प्राकृतिक खाद्य सामग्री का प्रयोग करना आवश्यक होता है इसके बाद नर्सरी में बीज बोने के 30 दिन बाद खेत में पौधे लगाएं। बीजों को मिट्टी की सतह से 20 से 25 सेंटीमीटर की ऊंचाई पर लगाना होता है।काले टमाटर के पौधों को नियमित रूप से पानी देना चाहिए, साथ ही समय-समय पर कम से कम 15 दिनों में खाद्य सामग्री का उपयोग करना चाहिए काले टमाटर की पौधों को पेड़ों पर सही संतुलन में रखने के लिए प्रतिदिन प्रकोपन करना चाहिए।

काले टमाटर की खेती से होने वाली कमाई

image 233

काले टमाटर की खेती से होने वाली कमाई की अगर हम बात करे तो इस में लगभग उतना ही खर्च आता है जितना कि लाल टमाटर की खेती में पैसा लगता है काले टमाटर की खेती में केवल बीज का पैसा अधिक खर्च किया जाता है। टमाटर की खेती में होने वाले पूरे खर्च को निकालकर 4 से 5 लाख प्रति हेक्टेयर का लाभ उठाया जा सकता है। काले टमाटर ककी बड़े पैमाने पर इसकी खेती कर लाखो का मुनाफा कमा सकते हैं।किसानो की ताबड़तोड़ कमाई का जरिया बनी काले टमाटर की खेती, कम लागत में मुनाफा भी डबल, जाने पूरी जानकारी।

Jitendra