Makar Sakranti Recipe: इस मकर संक्रांति पर बनाये उत्तराखंड से लेकर केरल की ये फेमस मिठाई, जानिए रेसिपी

By Saurabh

Published on:

Makar Sakranti Special: साल शुरू होते ही मकर संक्रांति त्यौहार आता है भारत के सभी क्षेत्र में इसे हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। इतना ही नहीं, इस दिन विशेष रूप से तरह-तरह के व्यंजन बनाए जाते हैं ऐसे मे आज हम आपको उत्तराखंड से लेकर केरल तक की स्पेशल मिठाइओ की रेसिपी बता रहे है.

यह भी पढ़े पवनपुत्र हनुमान जी के 3 ऐसे चमत्कारी मंदिर, जहाँ दर्शन करने मात्र से दूर हो जाते है सारे कष्ट, होती है मनोकामना पूरी

Makar Sakranti Recipe: इस मकर संक्रांति पर बनाये उत्तराखंड से लेकर केरल की ये फेमस मिठाई, जानिए रेसिपीपंजाब, गुजरात, बंगाल, महाराष्ट्र ही नहीं जम्मू तक में मकर संक्रांति अनूठे तरीके से मनाया जाता है। यह त्यौहार फसल के मौसम की शुरुआत का प्रतीक है इस दिन लोग पंतग उड़ाकर, खिचड़ी के साथ-साथ कई सारे पकवान बनाकर जश्न मनाते हैं। अब जब त्यौहार इतना खास है और हम भारतीयों के लिए त्यौहार तो वैसे भी एक बहाना है। मकर संक्रांत में भी भारत के सभी राज्य तरह-तरह के व्यंजन बनाते हैं। आज हम आपको बताते है भारतीय राज्यों में मकर संक्रांति दिन क्या विशेष बनाया जाता है।

Untitled 20

बंगाली तालेर बोरा

बंगाल में संक्रांत के दिन पतिशप्ता से लेकर गोजा तक कई मीठे व्यंजन बनते हैं और उन्हीं में एक तालेर बोरा है। इसे तालेर फुलुरी भी कहते हैं और यह एक मीठा स्वैक है जिसे ताल के पल्प, गेहूं के आटे, सूजी और चावल आदि से तैयार किया जाता है।

यह भी पढ़े भारतीय वायु सेना ने अग्निवीर वायु 2024 भर्ती के लिए नोटिफिकेशन किया जारी, जानिए आवेदन की तिथि और आयु सीमा सहित पूरी जानकारी

गुजरात उंधियू

उंधियू गुजरात में मकर संक्रांति का लोकप्रिय व्यंजन है। इसे आलू, बैंगन, हरी बीन्स, रतालू, मटर और कच्चे केले जैसी सब्जियों कई मसालों के साथ मिलाकर बनाया जाता है। उंधियू का मतलब होता है, ऐसी डिश जिसे उल्टा करके पकाया जाता है। यह डिश मिट्टी के बर्तन में उल्टी करके पकाई जाती हैइसलिए इसका नाम उंधियू पड़ा.

image 176

ओडिशा का मकर चौला

मकर चौला ओडिशा में खूब लोकप्रिय है।ओडिशा में मकर संक्रांत पर विशेष रूप से चावल की चीजें बनती हैं। चावल की ताजा फसल के साथ गुड़, दूध, केला और गन्ने का उपयोग करके मकर चौला बनाया जाता है। यह उड़िया परंपरा मे इसे पहले भगवान को भोग के रूप में चढ़ाया जाता है और फिर प्रसाद के रूप में सभी के बीच बांट दिया जाता है।

सक्कर और वेन पोंगल

दक्षिण भारत में सक्कर पोंगल एक लोकप्रिय चावल का व्यंजन है जो मकर संक्रांति पर व्यापक रूप से तैयार किया जाता है यह दक्षिण भारत में कई जगहों पर नाश्ते के रूप में भी मिलता है। इसे चावल, मूंग दाल और गुड़ का उपयोग करके पकाया जाता है। वहीं, वेन पोंगल मीठे सक्कर पोंगल का एक दूसरा वर्जन है और इसे चावल, मूंग दाल, नारियल, काजू, करी पत्ते और घी का उपयोग करके बनाया जाता है।

तिल के लड्डू और बर्फी

image 175

मकर संक्रांत पर खास महत्व तिल और गुड़ का है। तिल और गुड़ के ही व्यंजन इस दिन खास तौर पर बनाए जाते हैं। तिल लड्डू मकर संक्रांति की खास मिठाई है। ये सिर्फ स्वाद में ही अच्छे नहीं होते,बल्कि शरीर को गर्माहट पहुंचाने के लिए भी जाने जाते हैं। मकर संक्रांति पर एक लोकप्रिय महाराष्ट्रीयन मुहावरा भी ही है ‘तिल-गुल घ्या, आनी गोड़-गोड़ बोला’है, महाराष्ट्र में इन तिल के लड्डुओं को परोसते समय इस मुहावरे को बोला जाता है।

झारखंड का पीट्ठा

यह भी पढ़े 2000 रूपये के छोटे से निवेश में शुरू करें यह शानदार बिजनेस, हर दिन होगी मोटी कमाई, जानिए डिटेल

झारखंड में संक्रांत पर पीट्ठा बनाया जाता है माना जाता है कि सबसे से पहले पीट्ठा पश्चिम बंगाल में बनाया गया था, लेकिन यह झारखंड का एक बहुत लोकप्रिय व्यंजन बन चुका है। इसे मकर संक्रांति या अन्य विशेष त्यौहारों के मौके पर बनाया जाता हैसाथ ही यहां तिल की बर्फी मकर संक्रांति के दौरान बनाई जाती है

उत्तराखंड की घुघुती

image 177

घुघुती उत्तराखंड के कुमाऊंनी क्षेत्र के लोगों का प्रिय व्यंजन है मकर सक्रांति को उत्तराखंड में घुघुतिया कहा जाता है और इस अवसर पर घुघुती बनाई जाती है। घुघुती बनाने के लिए गेहूं का आटा और गुड़ एक साथ मिलाकर फूल, सर्पिल आदि जैसे आकारों में पीटा जाता है। इसके बाद, घी में तला जाता है और एक माला बनाने के लिए एक साथ पिरोया जाता है। बच्चे इन मालाओं को प्यार से पहनते हैं मान्यतों के अनुसार प्रवासी पक्षियों के स्वागत के प्रतीक के रूप में कौवों को मिठाइयां खिलाने का रिवाज है.

Saurabh