पीएम मोदी पहले हनुमंत लला के दरबार में होंगे हाजिर, फिर रामलला की प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव में अयोध्या की ओर बड़ेगे

By Pragya

Published on:

पीएम मोदी पहले हनुमंत लला के दरबार में होंगे हाजिर, फिर रामलला की प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव में अयोध्या की ओर बड़ेगे

हनुमान जी अजर-अमर है। त्रेतायुग में अपने अवतार का उद्देश्य पूर्ण करने के बाद भगवान राम, भाइयों समेत सरयू नदी में प्रवेश करके अपने धाम को लौट गए थे। हनुमानजी ने उनके साथ वैकुंठ जाने से मना कर दिया था। क्योंकि उनके सर्वस्व तो राम ही थे। सीता मैया भी हनुमानजी को ‘अजर अमर गुननिधि सुत होहू। करहुं बहुत रघुनायक छोहू’ (अर्थात हे पुत्र! तुम अजर (बुढ़ापे से रहित), अमर हो जाओ) ऐसा आशीर्वाद दे दिया है। ऐसी मान्यताओं के तहत अयोध्या में हनुमानजी राजा के रूप में विराजमान है। आज भी यहां शुभ कार्य उनके आशीर्वाद से पुरे होते है।

पीएम मोदी होंगे हनुमान जी के दरबार में हाजिर

image 277

यह भी पढ़े –लौकी खाने का मन नहीं करता, पर क्या आप जानते है लौकी खाने के जबरदस्त फायदों के बारे में?

22 जनवरी को राम मंदिर में होने वाली प्राण प्रतिष्ठा के आयोजन से पहले शुरू होने वाले मुख्य पूजन के लिए पीएम मोदी पहले हनुमंत लला के दरबार में हाजिरी लगाने वाले है। उनसे इजाजत लेंगे फिर रामलला की प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव के अनुष्ठान के लिए रामजन्मभूमि की ओर आगे बढ़ने वाले है।

प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव कार्यक्रम

जैसे ही राम मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा शुरु होगी। 22 जनवरी 2024 का दिन इतिहास में सुनहपे अक्षरों में दर्ज किया जायेगा। प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव की शुरुआत 16 जनवरी को सरयू की जलयात्रा के साथ होने वाली है। पहले दिन भगवान की मूर्ति को नगर भ्रमण किया जयेगा। राममंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से कहा गया है कि भारी भीड़ होने पर नगर भ्रमण का मार्ग कुछ छोटा किया जायेगा।

17 जनवरी 2024- भगवान श्री विघ्नहर्ता गणेश जी के पूजन के साथ ही प्राण प्रतिष्ठा समारोह की शुरूआत की जाएगी। इसी दौरान रामलला के विग्रह के अधिवास का अनुष्ठान भी किया जायेगा।

18 जनवरी 2024 – इस दिन से प्राण-प्रतिष्ठा की विधि आरंभ की जाएगी। मंडप प्रवेश पूजन, वास्तु पूजन वरुण पूजन, विघ्नहर्ता गणेश पूजन और मार्तिका पूजन की जाएगी।

19 जनवरी 2024 – राम मंदिर में यज्ञ अग्नि कुंड की स्थापना किया जायेगा। खास विधि द्वारा अग्नि का प्रज्वलन भी होगा।

20 जनवरी 2024 – राम मंदिर के गर्भगृह को 81 कलश, जिसमें अलग-अलग नदियों के जल मंगाया गया है। उनसे पवित्र किया जाएगा. वास्तु शांति अनुष्ठान किया जयेगा।

21 जनवरी 2024 – इस दिन यज्ञ विधि में विशेष पूजन और हवन के बीच राम लला का 125 कलशों से दिव्य स्नान किया जयेगा।

22 जनवरी 2024 को प्राण प्रतिष्ठा होनी है. इस दिन मध्यकाल में मृगशिरा नक्षत्र में रामलला की महापूजा की जाएगी।

image 278

यह भी पढ़े –जानिए आज 04 जनवरी 2024 दिन- गुरुवार का राशिफल, किस राशि का चमकेगा भाग्य और किन लोगो को होगी परेशानी

पहली आरती उतारेंगे पीएम मोदी

पंडित लक्ष्मीकांत दीक्षित के आचार्यत्व में देश भर के 121 वैदिक ब्राह्मण प्राण प्रतिष्ठा मुहूर्त को संपन्न किया है। 22 जनवरी की तिथि पांच बाण अग्नि बाण, मृत्यु बाण, चोर बाण, नृप बाण और रोग बाण से पूरी तरह से मुक्त किया जायेगा। इसके कारण ये देश के लिए संजीवनी योग का निर्माण कर रही है। अभिजीत मुहूर्त में प्राण प्रतिष्ठा किया जायेगा।

रामलला की मूर्ति की स्थापना के लिए 22 जनवरी को 12 बजकर 29 मिनट 8 सेकंड से 12 बजकर 30 मिनट 32 सेकंड तक रहने वाली है। प्राण प्रतिष्ठा के लिए 84 सेकंड का मुहूर्त निकला गया है। रामलला की पहली आरती प्रधानमंत्री मोदी जी उतरने वाले है।

Pragya