spot_img
Sunday, January 29, 2023
spot_img
HomeराशियोंRahu Gochar 2023: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार नये साल में कई राशिओ...

Rahu Gochar 2023: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार नये साल में कई राशिओ में राहु बदलेगा अपनी स्थिति, होगा धन लाभ

Rahu Gochar 2023: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार नये साल में कई राशिओ में राहु बदलेगा अपनी स्थिति, होगा धन लाभ, ज्योतिष शास्त्र में राहु ग्रह का एक अपना महत्व है, इसे छाया ग्रह माना जाता है। राहु हमेशा उल्टी चाल ही चलते हैं इसलिए इसको किसी भी राशि का स्वामित्व प्राप्त नहीं है। राहु को रहस्य, गूढ़ विद्या, गुप्त धन और अचानक होने वाली घटनाओं का भी कारक माना जाता है, इसलिए भविष्य की गणनाओं में इसके फल का बहुत महत्व होता है।

Rahu Gochar 2023

ज्योतिष गणना के अनुसार देखा जाये मनुष्य की राशिओ में जिन के मुताबिक जिन जातकों की कुंडली में राहु अगर शुभ स्थान में होते हैं तो व्यक्ति को राजनीति और प्रशासनिक पद की प्राप्ति होती है। साल 2023 में छाया ग्रह राहु मेष राशि की यात्रा को विराम देते हुए मीन राशि में प्रवेश करेंगे। पंचांग के अनुसार, मायावी ग्रह राहु मेष राशि से निकलकर 30 अक्टूबर 2023 सोमवार को दोपहर 1 बजकर 33 मिनट पर मीन राशि में प्रवेश करेंगे। इसके गोचर से 12 राशियों पर शुभ-अशुभ फल पड़ेगा।

मेष राशि

राशि चक्र की यह पहली राशि है, इस राशि का चिन्ह ”मेढा’ या भेडा है, इस राशि का विस्तार चक्र राशि चक्र के प्रथम 30 अंश तक है। राशि चक्र का यह प्रथम बिन्दु प्रतिवर्ष लगभग 50 सेकेण्ड की गति से पीछे खिसकता जाता है। इस बिन्दु की इस बक्र गति ने ज्योतिषीय गणना में दो प्रकार की पद्धतियों को जन्म दिया है, राहु गोचर मेष राशि वालों को कई प्रकार की समस्याओं हो सकती है। निवेश के लिए समय अनुकूल नहीं है, खर्च बढ़ सकते है। आर्थिक, शारीरिक और मानसिक के साथ-साथ परिवारिक परेशानियां बढ़ सकती हैं, ऐसे समय में सावधान रहने की जरूरत है।

कन्या राशि

यह राशि चक्र की छठी राशि है।दक्षिण दिशा की द्योतक है। इस राशि का चिह्न हाथ में फ़ूल की डाली लिये कन्या है। इसका विस्तार राशि चक्र के १५० अंशों से १८० अंश तक है। इस राशि का स्वामी बुध है, इस राशि के तीन द्रेष्काणों के स्वामी बुध, शनि और शुक्र हैं, मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। सेहत ख़राब हो सकती है। सतर्क रहे और अपनी वाणी पर संयम रखें

मकर राशि

>

मकर राशि बारह राशियों के समूह में १०वीं है। इसका स्वामी शनि है। लम्‍बे और पतले मकर लग्‍न अथवा राशि के जातकों को एक बारगी देखने पर यकीन नहीं होता कि ये लोग बड़े समूह या संगठन का सफल संचालन कर रहे हैं। बचपन में इन्‍हें देखें तो लगता है पता नहीं कब बड़े होंगे और कब अपने पैरों पर खड़े होंगे, खर्च बढ़ने के आसार है। बिजनेस और नौकरी में मुश्किलें आ सकती है। वैवाहिक जीवन पर असर पड़ेगा। वाणी पर नियंत्रण रखें अन्यथा नुकसान हो सकता है।

वृषभ राशि

वृषभ राशि के अनुसार राशि में धन का आगमन होने की स्थिति बढ़ रही है इस राशि के लिए राहु का गोचर 11वें भाव में होने जा रहा है। समय अनुकूल सिद्ध हो सकता है करियर में लाभ के संकेत है, प्रोफेशनल लाइफ में भी उन्नति के योग है। आयात-निर्यात से संबंधित काम करने वालों के लिए अनुकूल समय होगा। अगर आप स्टॉक मार्केट, सट्टा और लॉटरी में निवेश करें, तो भी आपको लाभ मिल सकता है।

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि की प्रकृति – स्वल्प, अगवाला, बहुपाद, ब्राह्मण वर्ण, बलयुक्त, उत्तर दिशाचारी, दिन बली, पिशग वर्ण, जल तथा पृथ्वी चारी, रोम युक्त, तीक्षण अगवाला तथा मंगल ग्रह इसका स्वामी है। इस राशि के लोग विशाखा अनुराधा ज्येष्ठा जैसे नक्षत्रसे जुड़े होते है राहु का गोचर आपकी कुंडली के पंचम भाव में होने जा रहा है जो की सकारात्मक साबित हो सकता है। प्रेम- संबंध और संंतान का भाव माना जाता है, संतान की प्राप्ति हो सकती है। विद्यार्थी के लिए अच्छे अवसर और विदेश यात्रा के योग बन रहे है। प्रेम विवाह के भी योग बन रहे है।

कुंभ राशि

राशि चक्र की यह ग्यारहवीं राशि है। यह वायु तत्व की तीसरी और स्थिर राशि है। इसका विस्तार चक्र 300 से 330 अंश के अन्दर पाया जाता है। इसका चिन्ह कु्म्भ है। इस राशि का स्वामी शनि है। कुंभ राशिके लोग धनिष्ठा नक्षत्र, शततारका नक्षत्र, पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र जैसे नक्षत्रसे जुड़े होते है, राहु ग्रह का गोचर बहुत शुभ फलदायी साबित हो सकता है। क्योंकि राहु ग्रह आपकी राशि से दूसरे भाव में भ्रमण करने जा रहे हैं, जिसे धन और वाणी का स्थान माना जाता है मान सम्मान पद प्रतिष्ठा में वृद्धि, राजनीति में सक्रिय, पुराने निवेश में धनलाभ के योग है ।अगर आप कारोबारी हैं, तो इस समय कोई डील फाइनल हो सकती है।

तुला राशि

इस कारण इस राशि के जातकों के लिए भाग्यशाली दिन शुक्रवार होता है। इस दिन ये विशेष प्रसन्न रहते हैं। इनके लिए सोमवार और शनिवार का दिन भी शुभ और रविवार और बुधवार का दिन अशुभ होता है, जिस दिन कुंभ राशि का चंद्रमा हो, उस दिन महत्व का कार्य शुरू नहीं करें। राहु का गोचर छठे भाव से होगा। रोग, ऋण, शत्रु, नौकरी का पता लगाया जाता है। नौकरी में अच्छे अवसर खुलेंगे और राजनीति से जुड़े लोगों को जबरदस्त सफलता मिलेगी। बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है। अब विदेश जाने का आपका सपना पूरा हो सकता है। इस समय पारिवारिक विवाद में न ही पड़े तो अच्छा है।

ये भी पढ़िए :पन्‍ना रत्‍न विद्यार्थियों और व्‍यापारियों के लिए खासतौर पर बहुत शुभ…

मकर राशि

मकर राशि बारह राशियों के समूह में १०वीं है। इसका स्वामी शनि है। लम्‍बे और पतले मकर लग्‍न अथवा राशि के जातकों को एक बारगी देखने पर यकीन नहीं होता कि ये लोग बड़े समूह या संगठन का सफल संचालन कर रहे हैं। बचपन में इन्‍हें देखें तो लगता है पता नहीं कब बड़े होंगे और कब अपने पैरों पर खड़े होंगे, राहु का गोचर तीसरे भाव से होगा, जिससे भाई बहन, पराक्रम, साहस का विचार किया जाता है। साहस में वृद्धि , मीडिया, लेखन और जनसंचार से जुड़े जातकों के जीवन में एक अहम बदलाव देखने को मिल सकता है। यात्रा लाभदायक सिद्ध होगी और व्यापारी वर्ग को अच्छा लाभ मिल सकता है। राहु के इस गोचर के कारण जीवनसाथी की सेहत का ख्याल रखना होगा।

>
RELATED ARTICLES

Most Popular