spot_img
Monday, January 30, 2023
spot_img
Homeबिज़नेसशेयर मार्किटShare Market: शुगर शेयरो ने तोडा रिकॉर्ड मात्र 45 रु की कीमत...

Share Market: शुगर शेयरो ने तोडा रिकॉर्ड मात्र 45 रु की कीमत वाले यह 4 शेयरो ने दो दिन में दिया 40% रिटर्न, जाने एक्सपर्ट की राय

Share Market: शुगर शेयरो ने तोडा रिकॉर्ड मात्र 45 रु की कीमत वाले यह 4 शेयरो ने दो दिन में दिया 40% रिटर्न, जाने एक्सपर्ट की राय, शुगर कंपनियों के शेयरों में रिकॉर्ड तोड़ तेजी जारी है. शुक्रवार के बाद सोमवार को भी तेजी का सिलसिला जारी रहा. बीते दो दिन में शुगर कंपनियों से जुड़े कई शेयर 20 फीसदी से ज्यादा बढ़ चुके है. वहीं, एक महीने में 75 फीसदी का बंपर रिटर्न दे चुके हैं. टेक्निकल चार्ट्स पर शेयरों को आंकने वाले प्रकाश गाबा का कहना है कि चार्ट्स पर शेयर अच्छे लग रहे है. छोटी अवधी में बलरामपुर चीनी खरीदा जा सकता है. शेयर पर लक्ष्य 440 रुपये रहेगा. लेकिन 380 रुपये का स्टॉपलॉस लगाना ना भूलें. अब जाने हमारे द्वारा आपको बताये जाने वाले 45 रु से कम कीमत के शेयर जिनको खरीद करे पाए अच्छा रिटर्न जाने |

ये भी पढ़िए: Share Market: Paytm के ख़राब प्रदर्शन के बाद क्या उछाल मारेगा…

राना शुगर्स (Rana Sugars)

राना शुगर्स लि., शुगर क्षेत्र में सक्रिय, साल 1991 में निगमित, एक स्‍मॉल कैप कंपनी है (मार्केट कैप – Rs 465.31 करोड़) समाप्ति तिमाही 30-09-2022 के लिए, कंपनी द्वारा रिपोर्टेड स्टैंडअलोन बिक्री – Rs 382.49 करोड़ है, -12.33 % नीचे, अंतिम तिमाही की बिक्री-Rs 436.30 करोड़ से, और 37.93 % ऊपर पिछले साल की इसी तिमाही की बिक्री – Rs 277.30 करोड़ से| नवीनतम तिमाही में कंपनी का Rs .84 करोड़ का रिपोर्टेड टैक्स पश्चात शुद्ध मुनाफा है एक हफ्ते में शेयर 31 फीसदी, एक महीने में 35 फीसदी चढ़ा है. तीन साल में शेयर ने 800 फीसदी से ज्यादा का रिटर्न दिया है. कंपनी के फंडामेंटल पर नज़र डालें तो शेयर बीती 5 तिमाही में एफआईआई की हिस्सेदारी 22.64 फीसदी पर बरकरार है. अच्छी बात ये हैं कि इसमें कोई भी हिस्सा गिरवी नहीं है.
विदेशी निवेशकों की हिस्सेदारी 2 फीसदी के करीब है. घरेलू निवेशकों कि हिस्सेदारी भी 1.67 फीसदी पर बरकरार है.

बजाज हिंदुस्थान (Bajaj Hindusthan)

बजाज हिंदुस्तान लि., शुगर क्षेत्र में सक्रिय, साल 1931 में निगमित, एक स्‍मॉल कैप कंपनी है (मार्केट कैप – Rs 2407.82 करोड़) समाप्ति तिमाही 30-09-2022 के लिए, कंपनी द्वारा रिपोर्टेड संगठित बिक्री – Rs 1329.99 करोड़ है, -13.51 % नीचे, अंतिम तिमाही की बिक्री-Rs 1537.71 करोड़ से, और -1.29 % नीचे पिछले साल की इसी तिमाही की बिक्री – Rs 1347.35 करोड़ से| नवीनतम तिमाही में कंपनी का Rs -162.37 करोड़ का रिपोर्टेड टैक्स पश्चात शुद्ध मुनाफा है| शेयर में दो दिन से तेजी जारी है. शेयर में 20 फीसदी तक की तेजी आई है. वहीं, एक महीने में शेयर 75 फीसदी की तेजी दिखा चुका है. फंडामेंटल पर नजर डालें तो बीती 5 तिमाही में प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 24.95 फीसदी है. वहीं, प्रमोटर्स की पूरी हिस्सेदारी गिरवी रखी है. हालांकि, विदेशी निवेशकों ने अपनी हिस्सेदारी में मामूली बढ़ोतरी की है.
ये 0.75 फीसदी से बढ़कर 1.59 फीसदी हो गई है. घरेलू निवेशकों ने अपनी हिस्सेदारी घटाईं है. ये 26.6 फीसदी से गिरकर 15.65 फीसदी पर आ गई हैं.

KCP शुगर्स (KCP Sugars)

>

एक हफ्ते में शेयर 32 फीसदी, एक महीने में 30 फीसदी चढ़ा है. तीन साल में शेयर ने 147 फीसदी से ज्यादा का रिटर्न दिया है. केसीपी सुगर एंड इंडस्ट्रीज कार्पोरेशन लि., शुगर क्षेत्र में सक्रिय, साल 1995 में निगमित, एक स्‍मॉल कैप कंपनी है (मार्केट कैप – Rs 378.71 करोड़) समाप्ति तिमाही 30-09-2022 के लिए, कंपनी द्वारा रिपोर्टेड संगठित बिक्री – Rs 103.20 करोड़ है, 36.34 % ऊपर, अंतिम तिमाही की बिक्री-Rs 75.69 करोड़ से, और 23.10 % ऊपर पिछले साल की इसी तिमाही की बिक्री – Rs 83.84 करोड़ से| नवीनतम तिमाही में कंपनी का Rs 28.94 करोड़ का रिपोर्टेड टैक्स पश्चात शुद्ध मुनाफा है|
विदेशी निवेशकों की हिस्सेदारी 0.08 फीसदी के करीब है. घरेलू निवेशकों कि हिस्सेदारी भी 0.10 फीसदी है. निवेश से पहले शेयर में सावधानी बरतनी चाहिए.

शक्ति शुगर्स (Shakti Sugars)

दो दिन में 40 फीसदी रिटर्न दिया है. 7 दिन में 50 फीसदी, सालभर में 125 फीसदी और तीन साल में 300 फीसदी का रिटर्न दिया है.शक्ति शुगर्स लि., शुगर क्षेत्र में सक्रिय, साल 1961 में निगमित, एक स्‍मॉल कैप कंपनी है (मार्केट कैप – Rs 408.84 करोड़) समाप्ति तिमाही 30-09-2022 के लिए, कंपनी द्वारा रिपोर्टेड स्टैंडअलोन बिक्री – Rs 243.62 करोड़ है, -19.62 % नीचे, अंतिम तिमाही की बिक्री-Rs 303.08 करोड़ से, और 66.05 % ऊपर पिछले साल की इसी तिमाही की बिक्री – Rs 146.71 करोड़ से| नवीनतम तिमाही में कंपनी का Rs 4.93 करोड़ का रिपोर्टेड टैक्स पश्चात शुद्ध मुनाफा है|
कंपनी के फंडामेंटल पर नज़र डालें तो बीती 5 तिमाही में प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 59.83 फीसदी पर बरकरार है. कुल हिस्सेदारी का 97 फीसदी गिरवी है. एफआईआई की मामूली हिस्सेदारी 0.04 फीसदी है. घरेलू निवेशकों कि हिस्सेदारी भी 11.33 फीसदी पर है.

ये भी पढ़िए: Multibagger Shares: करोड़पति बनना है तो इन 6 शेयरो में करे…

शुगर शेयरों में रिकॉर्ड तोड़ तेजी की क्या है वजह (What is the reason for the record breaking boom in sugar stocks)

  • एक्सपर्ट्स का कहना है कि शनिवार को हुई जीएसटी काउंसिल की बैठक में इथेनॉल पर जीएसटी कम होने का असर दिख रहा है.
  • जीएसटी काउंसिल ने पेट्रोल में मिलाए जाने वाले इथेनॉल पर कर जीएसटी रेट 18 फीसदी से घटाकर पांच फीसदी करने का फैसला किया था.
  • सरकार का मकसद कच्‍चे तेल के आयात पर निर्भरता को कम करना है. क्योंकि विदेशों से खरीदने में काफी खर्च आता है. इसका सीधा असर मुद्रा भंडार पर पड़ता है.
  • इसके अलावा रॉ शुगर के दाम 3% चढ़कर 20 सेंट के पार पहुंच गए है. रॉ शुगर के दाम 5 साल के शिखर पर है. ब्राजील, थाइलैंड में फसल बुआई में देरी आई है.
  • थाइलैंड में देरी से 20 लाख टन शुगर पर असर होगा. ब्राजील में एथेनॉल के दामों में भी इजाफा हुआ है. अगले कुछ महीने शुगर का बाजार टाइट रहेगा.

डिस्क्लेमर: बैतूल मिडिया पर दी गई सलाह या विचार एक्सपर्ट/ब्रोकरेज फर्म के अपने निजी विचार हैं. वेबसाइट या मैनेजमेंट इसके लिए उत्तरदायी नहीं है. निवेश से पहले आप अपने वित्तीय सलाहकार यानी सर्टिफाइड एक्सपर्ट की राय जरूर लें.

>
RELATED ARTICLES

Most Popular