UPI Rules 2024: बदलने वाले है नियम, UPI से पेमेंट करते हैं तो जाने ले इन प्रमुख बदलावों को

Saurabh
4 Min Read

UPI Users: डिजिटल भारत का लक्ष्य लिए ऑनलाइन भुगतान पर RBI और NPCI ने UPI संबधिंत भुगतान नियमों में कई बदलावों की घोषणा की है सभी upi यूजर को जानने की जरुरत।

यह भी पढ़े हल्दी की खेती से चमक उठेगी गरीब किसानों की किस्मत, कम लागत में होगी जबरदस्त पैदावार, जानिए इसकी पूरी जानकारी

UPI Rules 2024: बदलने वाले है नियम, UPI से पेमेंट करते हैं तो जाने ले इन प्रमुख बदलावों को यूनाइटेड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) के दायरे को और भी सुरक्षित और विस्तार करने के लिए, भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने 2023 में इसके नियमों और रेगुलेशन में कई बदलावों की घोषणा की। UPI भुगतान के लिए इनमें से कई नए नियम 1 जनवरी से लागू हो गए हैं।इन बदलावों में इनएक्टिव UPI आईडी को एक्टिव करने के लिए ट्रांजैक्शन लिमिट बढ़ाना भी शामिल है।

Untitled 32

यूनाइटेड पेमेंट्स इंटरफेस के नियम प्रमुख बदलाव के साथ 1 जनवरी 2024 से लागू किये जायेंगे।

UPI ट्रांजैक्शन की सीमा बढ़ी अस्पतालों, स्कूलों के लिए

आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने घोषणा की कि अस्पतालों और शैक्षणिक संस्थानों को किए जाने वाले UPI भुगतान के लिए ट्रांजैक्शन की सीमा पहले के 1 लाख रुपये से बढ़ाकर 5 लाख रुपये कर दी गई है।डिजिटल भारत लक्ष्य को ध्यान मे रखते हुए ऐसा ऑनलाइन भुगतान को बढ़ावा देने के लिए किया है.

इनएक्टिव UPI को एक्टिव करना होगा

Untitled 31

NPCI ने पिछले साल एक घोषणा में कहा, बैंकिंग सिस्टम को अपडेट किए बिना ग्राहकों द्वारा अपना फोन नंबर बदलने पर गलती से गलत लोगों को पैसे भेजने से बचने के लिए एनपीसीआई ने यह निर्णय लिया गया है।” नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने बैंकों और गूगल पे, पेटीएम और फोनपे जैसे मोबाइल भुगतान एप्लिकेशन से उन खातों की UPI आईडी और नंबर को इनएक्टिव करने के लिए कहा है जो एक साल से इनएक्टिव हैं।

यह भी पढ़े सफेद बालों को जड़ से काला करने के लिए चाय के पानी में बस मिला ले ये चीज, नैचरली काले नजर आएंगे बाल

ट्रांजैक्शन की सीमा बढ़ाई UPI लाइट वॉलेट पर

UPI लाइट वॉलेट पर भुगतान बिना इंटरनेट कनेक्शन वाले लोग भी कर सकते हैं इस क लिए ट्रांजैक्शन की सीमा भी 200 रुपये से बढ़ाकर 500 रुपये कर दी गई है जबकि ऑनलाइन ट्रांसफर की जा सकने वाली अधिकतम राशि 2,000 रुपये है।

UPI ऑटो भुगतान के लिए कोई प्रमाण नहीं

घोषणा से पहले, AFA प्रमाण के बिना ट्रांसफर की जा सकने वाली धनराशि की सीमा 15,000 रुपये थी। वर्तमान मे आरबीआई ने यह भी घोषणा की थी कि क्रेडिट कार्ड रीपेमेंट, म्यूचुअल फंड सब्सक्रिप्शन और बीमा प्रीमियम के लिए 1 लाख रुपये तक के UPI भुगतान के लिए अब अतिरिक्त फैक्टर प्रमाण की आवश्यकता नहीं होगी।

यह भी पढ़े Paneer Chili Recipe: पनीर चिली का स्वाद ऐसा कि उंगलियां चाटते रह जाओगे, जानिए रेसिपी

इंटरचेंज फीस UPI मर्चेंट भुगतान पर

नियम अनुसार ट्रांसफर की गई धनराशि 2,000 रुपये से ज्यादा है तो फीस लागू नहीं होगी NPCI ने पिछले साल व्यापारियों द्वारा किए गए UPI भुगतान पर 1.1 प्रतिशत इंटरचेंज फीस लगाने की घोषणा की थी। यह फीस कुछ व्यापारी भुगतानों पर लागू होती है जहां ट्रांजैक्शन मूल्य 2,000 रुपये से कम है.

Share This Article