spot_img
Tuesday, February 7, 2023
spot_img
HomeUncategorizedआई ये बड़ी खराबी Kia के इस मॉडल में ,कंपनी को...

आई ये बड़ी खराबी Kia के इस मॉडल में ,कंपनी को मंगवानी पड़ी 44,174 गाड़ियां,पढ़िए पूरी खबर

किआ ने पिछले कुछ महीने पहले ही Kia Carens को इंडियन मार्केट में पेश किया था। इस गाड़ी में एयर बैग से जुड़ी कुछ समस्या सामने आई हैं, जिसके बाद कंपनी ने बेचे गए 44,174 हजार गाड़ियों को वापस शोरूम बुला रही है। इसके ठीक करने के बाद ग्राहकों को फिर से वापस कर दिया जाएगा। किआ मोटर्स भारतीय बाजार में काफी अच्छा प्रदर्शन कर रही है. भारत के अलावा कंपनी कई अन्य देशों में भी अपनी कारों की बिक्री करती है. हाल ही में किआ ग्राहकों के लिए एक बुरी खबर सामने आई है. किआ की गाड़ियों में आग लगने का खतरा है. इसके चलते कंपनी ने बड़ी संख्या में कारों को रिकॉल किया है. दरअसल, पूरा मामला अमेरिका का है, जहां किआ ने खराब सर्किट बोर्ड ठीक करने के लिए 70,000 कारों के लिए रिकॉल किया है. 

रिकॉल किए गए वाहनों में है, पोर्ट-इंस्टॉल विकल्प के रूप में टो हिच हार्नेस

NHTSA के अनुसार, 22,000 से ज्यादा रिकॉल किए गए वाहनों में पोर्ट-इंस्टॉल विकल्प के रूप में टो हिच हार्नेस है, जबकि लगभग 49,000 वाहनों में डीलरशिप पर एक्सेसरी फिट की गई थी. जिन वाहनों में खामी पाई गई है, उन्हें 27 अक्टूबर 2014 को बनाया गया था. रिपोर्ट के अनुसार, कुछ 2023 किआ सोरेंटो PHEV मॉडल भी प्रभावित हुए हैं. दूसरी ओर, प्रभावित किआ स्पोर्टेज मॉडल 10 दिसंबर, 2015 और 7 दिसंबर, 2021 के बीच बनाए गए थे. यह समस्या कंपनी की किआ सोरेंटो (Kia Sorento) और स्पोर्टेज (Kia Sportage) मॉडल में पाई गई है.

यह भी पढ़िए – ऐसे करें अपने शादी के लहंगे को करवा चौथ पर कैरी, आप भी दिखोगी स्टाइलिश और यूनिक

image 109

इग्निशन बंद होने पर भी आग लगने की संभावना होती है

नेशनल हाईवे ट्रैफिक सेफ्टी एडमिनिस्ट्रेशन (NHTSA) के मुताबिक, इस खामी के चलते इन गाड़ियों में आग लगने का खतरा है. रिपोर्ट में दावा किया गया है कि समस्या वाहनों के टो हिच हार्नेस (tow hitch harness) मॉड्यूल में है, जिसमें इग्निशन बंद होने पर भी आग लगने की संभावना होती है.  किआ इंडिया का कहना है कि किआ कैरेंस में एयर बैग कंट्रोल मॉड्यूल सॉफ्टवेयर संभावित एरर पाया गया है, जिसको ठीक करने के लिए सभी मॉडल्स को बुलाया जा रहा है। कंपनी सभी गाड़ियों को टेस्ट करना चाहती है। अगर किसी गाड़ी में ये समस्या पाई जाती है तो कंपनी फ्री में सॉफ्टवेयर अपडेट करेगी।

>
RELATED ARTICLES

Most Popular